पति,पत्नी,सास ,ससुर की रासलीला – Part 2

चाहे वो उसका माँ, बहन, भाभी, बेटी या बहु क्यों न हो. एह्फ्री सेक्स का सिलसिला उस घर के आदमी ने ही शुरू किया था और अब उन्केबहू के मैके मी और बेटी कि ससुराल मी भी चालू हो गया है.इसीलिए बहनजी मैतो कहती हूँ कि अप जो भी हो रह है होने दे और चुप चाप शामिल हो जाये.” इतना सुब सुन कर मा ने नुपुर सेबोली, “बहु मुझे तो कुछ समझ नही अत, पता नहीं तुम लोगो कोक्य हो गया है. अच्छा ले चल, अपनी मन कि मुराद पूरी कर ले. चलाज तू मुझे भी अपनी तरह चिनल बना दे और मेरी छूट मेरे बेतेके लौरे से चुदने दे.”इतना सुनते ही बाबुजी हंस दिए और बोले चलो आज से इस घर मी भिफ्री सेक्स चालू होने जा रह है. जय हो छूट महारानी और लुन्द्माहराज कि. फिर वो नुपुर के पास आकार खडे हो गए. मेरे ससुमांदर कमरे मी से माला और सिंदूर दानी उठा लाई. बबुजे ने एक मलानुपुर को पहनाया और नुपुर ने भी एक माला बाबुजी को पहनाया. फिर्बबुजी ने नुपुर कि मांग मी सिन्दूर भरा. मेरे ससुमा ने नुपुर को अशिर्बाद देती हुई बोली,

“अब तक तू मेरी बेटी थी मगर आज्से तुमेरी समधिन बन गयी है. मैं चाहता हू कि समधी जी तुझ्कोखुब छोड और साल भरके अन्दर तेरे गोदी मेक नन्हा सा बछाकेले.” फिर बाबुजी ने माला मेरे मा को दिया और बोले, “लो एह मलाब अपने बेटे के गले मी दल दो. आज से तेरा बेटा ही तेरा आदमी होगौर तुझको नंगी कर तेरी छूट मी अपना लुंड पेलेगा.” मा एह सुनकर बाबुजी से बोली, “अच्छा है, मैं तो तुम्हारे बुधे लुंड तंग आगई थी अब एक जवान लुंड मुझे चोदेगा और मेरी छूट कि मस्तिझारेगा.” इसके बाद मा ने नुपुर से माला ले कर मेरे गले पहना दियौर मुस्कुरा कर बोली, “अब तक तू मेरा बेटा था लेकिन आज मैं तुझ्कोमाला पहना कर तेरे को अपनी आदमी मानती हूँ और अब चल आदमी बनानेका फ़र्ज़ पुरा कर.” मैंने भी मा कि मांग मी सिन्दूर दल दिया और मा से बोला, “अब आज से तुम मेरी मा नही मेरी पत्नी हो और चलो मेरेबिस्टर पर और हमलोग अपने पतिपतनी का धर्म निभाएँगे.” बबुजीताब बोले, “रुको, रुको अभी नए नए शादी हुए है,

यह कहानी भी पड़े  मेरी जानू और उसकी माँ

तुम लोग अप्नेबरों का पैर छुओ.” एह सुन कर मा और मैंने बाबुजी और नुपुर केपैर छुए और नुपुर ने मा को अशिर्बाद देते हुए बोली, “बहुस्वोभ्ग्यावती बोनो और जल्दी से पुत्रवती बनो.”तब मैंने देखा कि बाबुजी अपने कपरे खोलने लगे और अपने कप्रयूतर कर नुपुर को भी नंगी कर दिया.आज नुपुर अपनी झंते बिल्कुल्सफ़ कर रखी थी, उसकी छूट से हलके हलके रुस निकल रह था औरिस्लिये उसकी छूट बहुत चमक रही थी. मैं भी एह देख कर अप्नेकप्रे उतर दिए और अपनी मा के सामने बिल्कुल नंगा हो गया. मा मेराखारा १०” का लुंड देख कर बोली, “बेटा पार्थो तेरा तो लुंड बहुत्जंदर है. एह तो कोई भी चूड़ी या उन्चिदी छूट कि मस्त चुदाई कर के झर सकता है.” मैं तब अपनी मा के कपरे उतरने शुरू किया.सुबसे पहले मैंने उनकी साड़ी उतर दिया, फिर उनकी ब्लौसे के हूक्ख्लो कर ब्लौसे उनके शारीर से अलग किया. अब मेरी मा मेरे सम्नेसिर्फ़ पेट्तिकोअत और ब्रा पहने खरी थीं. मैं ब्रा के उप्पर से उन्किचुन्ची पाकर पहले हलके हलके से दबाया. चुन्ची पर हाथ पर्तेही मा बोली, “बेटा मेरी चुन्ची को जोर जोर से दबा, इसकी साड़ी दुध्तु आज पी ले, मेरी चुन्ची बहुत दिनों से थिक से मसली नही गयिहाई.”

मैं भी मा कि ब्रा खोल कर उनकी एक चुन्ची को जोर जोर दबनेलगा और दुसरी चुन्ची मी मुह लगा कर उसकी निप्प्ले अपने मुन्ह्मे लेकर चूसने लगा. मा अपने चुन्ची दबी और चुसी से गरमा गयीऔर अपने हाथों मी मेरा लौरा पाकर लिया और उसकी सुपर खोलने और्बंद करने लगी. अब मैंने भी मा कि पेट्तिकोअत का नारा खींच करुसको उनकी तंगो से अलग कर दिया. आज मा पेट्तिकोअत के नीचे पैंटी नही पहने हुए थी और उनकी पेट्तिकोअत खुलते ही वो पूरी तरह सेनंगी हो गयी. उनके नंगे होते ही मैं मा को बिस्टर पर चित लेतादिया और उनके उपर चरने लगा.तबतक बाबुजी बोली, “आरे पर्थोरुको, अभी एक काम बाकी है.” “क्या काम”, मैंने बाबुजी सेपुचा. “रुको मैं आ रह हूँ” बाबुजी बोले और चित लेटी नंगी माके पास आ गए. उन्होने मा कि छूट को अपने दोनो हाथ से खोल कर्बोले, “ले बेटा मैं आज नुपुर कि चुदाई कि फ़ीस पुरा कर रह हूँ, लीब तू भी मेरी बीवी कि छूट मी अपना लुंड पेल कर इसको जब चाहे,जैसे चाहे छोड़.”

यह कहानी भी पड़े  शादी के पांचवे दिन तक इंतज़ार की पति के लण्ड का

मैं एह सुन कर अपनी नंगी मा पर पेट के लेट गया और दोनो हाथ सयूनकी चुन्ची मसलने लगा और अपनी होतों से उनकी होतों को चुस्नेलगा. अपनी चुन्ची मसले और होंठ चुसी से मेरी मा बहुत गर्मगाये और अपने पैर मेरे दोनो तरफ फैला दिए जिससे कि मेरा लुंड अबुनकी छूट के मुहाने लग गया. मैं धीर से अपनी मा से पूछा, “माब तुमको छोड़ सकता हूँ?” मा ने मेरे छाती मी अपना मुँह चुप कर्शर्मा के बोली, “जाओ मैं नही जानती.तुझे जो भी करना है कर,लेकिन जल्दी कर.” मैं एह सुन कर मा से बोला, “आरे छूट चुद्वानेकी इतनी जल्दी है तो मेरा लुंड को अपनी छूट कि दरवाजे पर रखौर फिर देख अमी कितना जल्दी करता हूँ.” मा ने मेरे लुंड अप्नेनाजुक तों से पाकर कर अपनी छूट पर लगा दिया और मुझको अपने हाथ और पैर से बांध लिया. अब मैं अपनी कमर को उठा कर एक जोर द्र्धक्का मर कर अपना १०” का लुंड मा कि छूट के अन्दर दल दिया. मैस जोर धक्के से तिलमिला उठी और जोर से सिसकारी मर कर हमको और्जोर से जाकर लिया. मैंने मा से पूछा, “मा क्या ज्यादा लग गया है,क्या मैं अपना लुंड बाहर निकल लूँ?” “ख़बरदार, लुंड बाहर मत्निकालना,

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


संगीता दीदी की पैँटीantarvasna taiNokarani ki chudi hindichodaika khel sexstoryseksi khaneehindi me desi dudhbhare mamme ki nayi sex kahaniभाभी ने चुत मारना सिखायाresali romantic mom chudai storysadasa sakasi dadi ki mast cudaiptni.ko.khet.me.choda.hindi.sex.storiकाजल का फिगर Xxx storysestoure cudaikeबीबी के बदले दीदी की अंधेरे में चुदाई कर लेने की कहानीgodi me bitha kar land ragdachhat ktai hindi sexy storychudawoge kya.hindi.sex.stories.majedar chudaiblueFauji ki randi biwi storiesमेरे बुर को चोद कर प्यास बुझाईआआआआहह।चुदाई बहन की शादी मेजीजा साली सेक्सी चुटकलेboor se pesab sex storiesmami ki gand hotel peli storyTruck me choda me apni bhabi ko sex storyआज गांड फाड़ ही दोमा के बुर देखाXxX मनिसा कि sex कहानी चुत picमाँ बेटा सेक्स कहानियाँ आआआआआआआसेक्सी स्टोरी बहन भाई एक ही कमरे मेSex stories. Behan ka giftbhabhi ne cudvane se mana kiya sexistori Hinditerensexstoryhindiantarasana storiesपापा से घमासान चुदायी कहानी आहऽऽ सेक्स स्टोरीDeshibees.comसगी बहन को लंड दिखा कर चोदा हिंदी सेक्सी कहानियांनहींया वीडियो सैक्स साली जीजाKhet me maa ki chudai or maa ki gaand ka udghatan kiya xossipबहन ने कहा क्यो चोद रहे हो भैयाभाभी को रखैल बनाया राजशरमा गंदी कहानीbhabi n mutna sikhaya kahniInden sekxi Hindi vaviji devrAmmi ne kaha meri bur bur chusooo beta.... Hindi chodan kahanitalab ke pani me choda sex baba net sex storiesxxx storis bahoshi maअन्तर्वासनाBhu sasur porn padhe hindiचुद गई पापा की परीmeri dipali mami ki chudai meri doston se sex storyमूतते हुए देखा चुदायी कहानीAntarvasna dono padosan anty ki galiyaxxx बहन के गुलाबी होठों कहानीचची की छूट की गर्मी मुझसे उतरी हिंदी स्टोरीविधवा आणि नोकर सेक्स कथा मुझे लंड की भूखmeri bhabhi ke kamuk uroj hindi sex storymom ne muje chudai shikhai hindiपहला लण्डबुआ अन्तर्वासनाAtrvasn पती के sex storisaSasur bahu rajshrma hindi sex papa NE mere chuche dabaye Hindi sex khaniya पहले बहन को फिर माँ की प्यास बुझाईमेरी बहन का रंडीपन सेक्स कहानीलड़की की मसाज और निप्पलों और चुत चोदा इस की बिडियोसगे।मम्मा।अपनि।भजि।कि।चुदाई।कीताबबहन और भाई ने अपनी बहन की बूबस दबाया और लड़ा मारागाँव में नंगी औरतों को नंगा देखा नदी के किनारे सेक्स storiesSexbaba pe ganv ki kahaniyaचुदाई कहानी स्टूडेंट अंजलि कीXxx sveeta didi story in hindiमहिला lisban xnxxstory