कामवाली वाली कामुकता भरी चुदाई

हलो दोस्तों आपका अपना अभय आपकी सेवा में एक नई कहानी लेकर हाज़िर है।  उनके लिए बता दूं के मैं जालंधर  (पंजाब) से हूँ।

मुझे उम्मीद है आपको बेहद पसन्द आएँगी और कहानी के अंत में दिए गए मेल पते पर अपने सुझाव जरूर भेजेंगे।

आज की कहानी शुरू होती है पंजाब  के ज़मीदार बलविंदर सिंह की हवेली से, यहाँ उसका परिवार, जिसमे खुद बलविंदर सिंह, उसकी पत्नी रणजीत कौर  और 5 साल का बेटा गुरप्रीत सिंह रहते है।

भगवान का दिया सब कुछ है उनके घर में, लेकिन वो कहते है न के ज्यादा पैसा भी मती मार देता है और उल्टे सीधे शौक डाल देता है। ऐसा ही ज़मीदारबलविंदर सिंह के साथ हुआ है। चाहे जमीदार साब शादीशुदा है लेकिन आज भी कच्ची कलियाँ मसलने में ज्यादाविश्वास रखते है।

उन्होंने हवेली में घर का काम करने के लिए एक गरीब घर की औरत सुनीता  रखी हुई है। जो बेहद खूबसूरत सुडोल ज़िस्म की मालकिन है। उसे देखकर कोई भी अंदाज़ा नही लगा सकता के वो बेहद गरीब घर की बहू है। उसकी उम्र यही कोई 28 साल के लगभग होगी।उसके परिवार में उसकी सास, उसका पति, वो खुद और 3 साल के बच्चे को मिलाकर 4 मैम्बर है।

रोज़गार के नाम पे उसका पति राजेंद्र छोटी सी सब्ज़ी की रेहड़ी लगता है, और गली गली जाकर सब्ज़ी बेचता है। घर का गुज़ारा और अच्छी तरह से हो, इस लिए सुनीता  अपने 3 साल के बेटे को अपनी सास को सौंपकर, खुद ज़मीदार के घर पे काम करती है। ज़मीदारपहले दिन से ही उसे भूखी नज़रो से देखता है। जिसका सुनीता  को भी पता है।

लेकिन गरीब होने के कारण मज़बूरी है, के उनकी दासी बनकर उनके घर का काम करना पड़ता है। वो तो ज़मीदार का बस नही चलता, नही तो उसे कब का कच्ची कली की भांति मसल कर फेंक चुका होता। वो रोज़ाना उसके सुडोल बदन को हवस भरी नज़रो से देखकरस्कीम बनाता के कैसे इसको इसी की बातो में घेर कर इसकी जवानी को भोगा जाये।

यह कहानी भी पड़े  प्रिंसिपल ने माँ को मेरे सामने चोदा

एक दिन सुनीता  ने ज़मीदार से घर के किसी जरूरी काम के लिए 10 हज़ार रुपये की मांग की।

ज़मीदार — देखो सुनीता , इतनी बड़ी रकम दे तो दूंगा लेकिन जिस तरह से तुम्हारी तनख्वाह है। उसके हिसाब से तो एक साल से ऊपर लग जायेगा तुझे क़र्ज़ चुकाने में, ऊपर से ब्याज मिलाकर तुम्हारे 2 साल यहाँ पे खराब हो जाएंगे। अब बताओ इतना समय पेट कोगांठ कैसे लगाओगे। घर पे क्या नही चाहिए बोलो खाना, कपड़े और अन्य छोटे छोटे खर्चे।

सुनीता  — आप इसकी फ़िक्र न करे मालिक, वो मेरी सरदर्दी है, कही से भी लाऊँ, आपकी पाई पाई चुकता कर दूंगी।

ज़मीदार  — देखलो सुनीता  6 महीने का वक्त दे रहा हूँ। यदि एक दिन भी ऊपर हो गया तो उसके ज़िम्मेदार तुम खुद होंगी। यहा अंगूठा लगाओ। और एक बात इस पैसों वाली बात का किसी से भी ज़िक्र न करना, ये बात हम दोनों में ही रहनी चाहिए।

सुनीता  — ठीक है हज़ूर।

ज़मीदार की बही पे सुनीता  ने अंगूठा लगाकर 10 हज़ार रूपये ले लिए पैसे देते वक्त उसने सुनीता  का हाथ भी पकड़ना चाहा ।लेकिन ऐन वक्त पे उसकी बीवी आ जाने से उसने उस वक़्त उसे छोड़ दिया।

धीरे धीरे वक्त बीतता गया। कब साढ़े 5 महीने बीत गए पता ही न चला। इकरार से एक हफ्ता पहले सुनीता  को मालिक ने अपने कमरे में बुलाया।

ज़मीदार — सुनीता , क्या तुम्हे याद भी है के तुम्हारे किये इकरार के हिसाब से 5 दिन बाद तूने मुझे सारे पैसे ब्याज समेत वापिस करने है। मैंने सोचा क्यों न याद करवा दू। ताजो कोई कमी भी रही हो तो रहते वक्त तक पूरी हो जाये। परन्तु याद रखना जुबान से बदलन जाना। वरना मैं बहुत बुरे स्वभाव का व्यक्ति हूँ।

यह कहानी भी पड़े  मेरी नोकरानी अंकिता को बड़े लंड से चोदा

सुनीता  — आप फ़िक्र न करो मालिक, आपको आपका पैसा समेत ब्याज सुनिश्चित तारीख पे मिल जायेगा।

ज़मीदार (बीच में बात काटते हुए) —  यदि न वापिस आये तो ??

सुनीता  — तो फेर जो दिल करे दण्ड लगा लेना, मैं हंसकर आपकी हर सज़ा कबूल कर लूँगी।

ज़मीदार — चलो देखते है, क्या बनता है ?

इस तरह से वो इकरार वाला दिन भी आ गया।

सुबह से ही ज़मीदार बार बार दरवाजे की तरफ देख रहा था।

रणजीत — क्यों जी, इतने व्याकुल क्यों हो। किसकी प्रतीक्षा कर रहे हो ?

ज़मीदार — नही कुछ नही तुम अपना काम करो।

ज़मीदार सोचने लगा के आज से पहले तो सुनीता  सुबह 8 बजे ही काम पर आ जाती थी। लेकिन आज 10 बजने पर भी नही आई। कही पैसो के चक्र की वजह से तो नही गैर हाज़िर हुई है।

यही सोचते सोचते जमीदार सुनीता  के घर की तरफ चला गया।

घर के बाहर रुककर आवाज़ लगाई,” ओ राजेंद्र बाबू, बाहर आओ।

2-3 बार ऐसे ही आवाज़ देने पे जब कोई बाहर न आया तो खुद जमीदार बन्द पड़े लकड़ी के टूटे से दरवाजे को खोलकर घर के भीतर चला गया।

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


हाम बिसतरीबंहन कीचुदाई हिन्दी मे बिडिवोभाभी देवर मित्रा सेक्स कहानीसरहज और जीजा की होली की सेकसी कहानीचूची ढीली कर डाली सेक्स स्टोरीबहु पङोशिसे चूदवाति Raingin sa ya pani gana vidiosage risto me chudai antarvasna sex storybra.salesman.khani.xxxXxxmoyeeऐसा मोटा लंड लिया कि बुर खून से लाल हो गयाकसी गांड़chachi kijabarjasti chodai saree memammi ko choda Aankl ne mere samne Khet me Hindi Antrwasna comभाभी ने पार्क बुला चुड़ैकूपे में मां की चुदाईLambi kahani bhai behan kibhabhikichudaibolkeमौसी और मा की चुदाईरंडी बनानेकी कहानीदीदी की सिष्य कहलनि हिंदीचुचिsex storiy mota landgooru ghantal ki xxx kahaniyaSheetal ki chudai hindi kahaniMami ke poti ke saath sex hindi hot storyमराठी सेक्स कथा बॉस कामवाली sexi figar big ass and looz boobs sex beeg hdmasagesexkhaniमौसि के chakkar me maa ko chod diya sex ki sachi kahaniya.in2ladaki ki chodai kahaniindian sex storiesmummy ki gangbang masti antarvasnaमै उसे चूमने लगा वो मना करने लगी सेक्स स्टोरीbhan ka gift xxx khani hindiपकड पकड कर की चुदाई sex stori in hindiDidi ke sath suhagrat manayaमाँ के देहांत बाद बचपन से मौसी लंड की तेल मालीश करती चुदाई की कहानीयापेटी ब्रा खरीदा मममि SEX STORIकंट्रोल नहीं कर पाई छोड़ने के लिएpron pelo wesa ki ladki bhi yad rkhejamka chude lodeaलडकी ने पति के बदले ससुर के साथ सुहागरात मनायाआज तुम्हारे बुर का स्वाद चखा janamdin par coda anti ko kahaniNayana sexमेरी बहन को दोस्त में रखेल बनायाmujhe ko mami ne sex kiya.storySexi kahani jb usne behos krke chodama kee seksee khanee 10 Hindee me likhyeआह मादरचो मज़ा आ रहा हे कहानीनीद कि गोलि देके सेक्स किया सेक्सी सटोरीpapa ko swap karke sex story in hindiआंटी ने मेरे साथ अपनी सुहागरात मनाईअन्तर्वासनाDidi ki kachchi jawaani ko lode ki jaroorat sex story Hindibidhwa se Sadi kiya sexy Kahani sexbaba netMishtichr xxx kolejmose.boli.tera.land.cibrata tanu ko choda hindiमा को पेशाब करते हुए गैर ने धेखा के चोदा कहानीtrain Mai handi saxy kahineaमेरी सहेली की माँ parts hindi voice bhabi xxx jaber jesti chodaiहिंदी सेक्स स्टोरी नाभि के नीचे स्कर्टSexse story sab ki sab randi hai sali part 3-4 hindiपैँटी बरा बीबी saxX khaniyahi hindi mom comachche figar wali antiyaताई कि चुदाईBibi boli meri cheekhe nikalo Hindi sex story